भारत की वो रहस्य्मयी जगह जहां विदेशियों की एंट्री पर है बैन, जगह की सच्चाई जान लगेगा 440 वाल्ट का झटका

 
भारत की वो रहस्य्मयी जगह जहां विदेशियों की एंट्री पर है बैन, जगह की सच्चाई जान लगेगा 440 वाल्ट का झटका

लाइफस्टाइल न्यूज डेस्क।। भारत में कई खूबसूरत जगहें हैं जहां हर साल देश-विदेश से लाखों लोग घूमने आते हैं। इन खूबसूरत जगहों में देवभूमि उत्तराखंड का नाम सबसे ऊपर है। उत्तराखंड में कई ऐसी जगह हैं जहां प्राकृतिक सुंदरता देखने को मिलती है। यहां की खूबसूरती पर्यटकों को मंत्रमुग्ध कर देती है। लेकिन उत्तराखंड में एक गांव ऐसा भी है जहां विदेशियों को जाने की इजाजत नहीं है। अगर कोई विदेशी यहां जाने की कोशिश करता है तो सुरक्षाबल उसके खिलाफ कार्रवाई करते हैं। आइए जानते हैं उत्तराखंड के इस अनोखे गांव के बारे में...

इस गांव में आना मना है

उत्तराखंड के चकराता गांव में विदेशियों का प्रवेश वर्जित है। यहां कोई विदेशी नहीं जा सकता। दरअसल इस गांव में भारतीय सेना का कैंप है। जिसके चलते यहां सेना तैनात है। ब्रिटिश शासन के बाद से यह गांव एक सैन्य शिविर रहा है।

प्रतिबंध के बाद से पता करें

अगर आप बर्फीली पहाड़ियों पर जाना चाहते हैं तो यह जगह आपके लिए एक अच्छा विकल्प है। यह गांव राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से केवल 330 किमी दूर है। चकराता देहरादून के पास एक छोटा सा शहर है।

भारत की वो रहस्य्मयी जगह जहां विदेशियों की एंट्री पर है बैन, जगह की सच्चाई जान लगेगा 440 वाल्ट का झटका

ब्रिटिश शासन के बाद से पैदल सेना का अड्डा

ब्रिटिश शासन के समय से उत्तराखंड के चकराता में एक पैदल सेना का अड्डा मौजूद है। चकराता गांव उत्तराखंड में सबसे कम खोजे गए शहरों में से एक है। चकराता गांव शांत और अपनी खूबसूरती के लिए मशहूर है। साथ ही गांव प्रदूषण मुक्त है।

पता करें कि आप टहलने के लिए कहाँ जा सकते हैं

बहुत कम आबादी वाले इलाके में ठहरने के लिए आपको दो से चार होटल मिल सकते हैं। इस गांव को जौनसार बावर के नाम से भी जाना जाता है। यहां जौनसारी जाति के लोग रहते हैं। टाइगर फॉल्स, देववन और चिरमिरी थोड़ी दूरी पर हैं।

Post a Comment

From around the web