Travel Tips: घर पर मन न लगे तो निकल पड़िए मुरथल के इन परांठे वाले ढाबे की ओर, संडे के दिन हजारों में आती है भीड़

 
Travel Tips: घर पर मन न लगे तो निकल पड़िए मुरथल के इन परांठे वाले ढाबे की ओर, संडे के दिन हजारों में आती है भीड़

लाइफस्टाइल न्यूज डेस्क।।  एक समय था जब दिल्ली की जनता को चांदनी चौक के परांठे याद आ जाते थे। परांठे की महक ने यहां की गलियों से लोगों को अपनी ओर आकर्षित किया। देसी घी में बने स्वादिष्ट परांठे आज भी उतने ही मशहूर हैं, लेकिन अब दिल्ली से ज्यादा मुरथल पराठों की चर्चा है. जी हां, आप में से कई ऐसे होंगे जिन्होंने मुरथल के बारे में सुना होगा, कुछ ऐसे भी होंगे जो वहां रहे होंगे। किसी ने कभी नहीं सोचा था कि हरियाणा के सोनीपत जिले का यह मुरथल गांव परांठे के लिए इतना मशहूर हो जाएगा. अगर आप इस रविवार को यहां आने का प्लान कर रहे हैं तो सबसे पहले इस जगह के कुछ मशहूर ढाबों के बारे में जान लें।

अमरीक सुखदेव ढाबा


1956 में सरदार प्रकाश सिंह द्वारा स्थापित, यह ढाबा मुरथल के सबसे प्रसिद्ध ढाबों में से एक है। अमरीक सुखदेव ढाबा सबसे पुराने और सबसे भरोसेमंद ढाबा में से एक है। पहले तो यह ढाबा ट्रक चालकों के बीच लोकप्रिय था, लेकिन धीरे-धीरे यह स्थान पर्यटकों, परिवार और युवाओं के बीच लोकप्रिय हो गया। अमरीक सुखदेव ढाबा मुरथल में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहों में से एक है।

केवल शाकाहारी, नि:शुल्क पार्किंग, बाहर बैठने की जगह, 24 घंटे खुला
अवश्य खाना चाहिए: पनीर मिसिया पराठा
दो के लिए कीमत: रु
भोजन: उत्तरी भारतीय, दक्षिण भारतीय, चाइनीज, स्ट्रीट फूड
पता: 52, 250 केएम स्टोन, जीटी रोड, मुरथल, नई दिल्ली

हवेली
जैसा कि नाम से पता चलता है, यह स्थान राजकुमारों से घिरा हुआ है। यहां की थीम और सजावट पंजाब में महाराजा के युग को दर्शाती है। पहले जालंधर में हवेली ढाबे को लोकप्रियता मिली, फिर धीरे-धीरे यह मुरथल में भी बहुत लोकप्रिय हो गया। लोग यहां की सेवा को पसंद करते हैं और भोजन का कोई जवाब नहीं है।

यहां विशेषताएं: केवल शाकाहारी, होम डिलीवरी, 24 घंटे खुला
जरूर खाएं: सफेद मक्खन और अचार के साथ आलू पराठा
दो के लिए कीमत: रु
भोजन: उत्तरी भारतीय, दक्षिण भारतीय, चाइनीज, स्ट्रीट फूड
पता: 52, 250 केएम स्टोन, जीटी रोड, मुरथल, नई दिल्ली

गुलशन ढाबा
1950 के दशक में स्थापित, गुलशन ढाबा पूरे मुरथल क्षेत्र के सबसे पुराने ढाबों में से एक है। यहां की खासियत यह है कि आपको बाहर बैठने की भी सुविधा मिल जाएगी। अपने विनम्र स्वभाव के कारण, यह स्थान अब अपने पराठे और सेवा के कारण बहुत लोकप्रियता प्राप्त कर चुका है। मुख्य छत के आसपास कई उपहार की दुकानें और मिठाई की दुकानें भी हैं।

यहां विशेषताएं: केवल शाकाहारी, होम डिलीवरी, 24 घंटे खुला, वैलेट पार्किंग
जरूर खाएं: स्पेशल प्लेट
दो के लिए कीमत: रु
भोजन: उत्तरी भारतीय, दक्षिण भारतीय, चाइनीज, स्ट्रीट फूड
पता: जीटी करनाल रोड, मुरथल, सोनीपत - 131027, फ्लाईओवर के पास

मन्नत हवेली
मुरथल में मन्नत हवेली भारतीय विरासत का एक आदर्श मिश्रण है। प्रवेश द्वार पर, आप एक योद्धा-समान रक्षक को हाथ में तलवार लिए हुए देखेंगे। यहां की शानदार वास्तुकला राजशाही को दर्शाती है। हवेली के अंदर मर्सिडीज बेंज इतनी शाही दिखती है कि आप यहां लगभग शाही महसूस करेंगे। मन्नत हवेली भी अनोखी है क्योंकि यहां आप राजस्थानी नृत्य, कठपुतली शो, टोंगा और ऊंट की सवारी देख सकते हैं।

यहां विशेषताएं: केवल शाकाहारी, 24 घंटे खुला, सांस्कृतिक कार्यक्रम
पकाने की विधि: लस्सी के साथ छोले भटूरे
दो के लिए कीमत: रु
भोजन: उत्तरी भारतीय, दक्षिण भारतीय
पता: 52 मील का पत्थर एनएच 1, मुरथल, सोनीपत - 131027, भिगन चौक के पास

पहलवान ढाबा


यह पहली छत है जो अब मुरथल के सबसे प्रसिद्ध और स्थापित छतों में से एक है। यहां आपको परिष्कृत और उच्च गुणवत्ता वाले खाद्य उत्पाद और सेवा मिलेगी। कुछ नया ट्राई करने के लिए आप इस ढाबे पर खाने के लिए भी आ सकते हैं।

Post a Comment

From around the web