भारत के इन 5 जंगलों में है मौत का बसेरा, जो भी करता है यहां जाने की हिम्मत मौत से होता है उसका सामना 

 
भारत के इन 5 जंगलों में है मौत का बसेरा, जो भी करता है यहां जाने की हिम्मत मौत से होता है उसका सामना 

भारत में कई बड़े-बड़े जंगल मौजूद हैं। इसकी वजह से भारत को हरा भरा और एक सुंदर देश कहा जाता है।  भारत अपनी संस्कृति सभ्यता के अलावा प्राकृतिक सुंदरता के लिए पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है। इसके अलावा भारत में कुछ खतरनाक जंगल भी हैं जहां पर जाना खतरे से खाली नहीं है। आईए जानते हैं इन खतरनाक जंगलों के बारे में...

 भारत के 5 जंगल मे जाने से हो सकती है मौत

सुंदरवन का जंगल, पश्चिम बंगाल

दुनिया में रॉयल बंगाल टाइगर के लिए यह जंगल जाना जाता है। यहां खारे पानी के मगरमच्छ भी बड़ी संख्या पाए जाते हैं। सुंदरवन को भारत का सबसे खतरनाक जंगल माना जाता है। यह पश्चिम बंगाल में स्थित है। गंगा नदी के डेल्टा पर सुंदरवन स्थित है। करीब 10,000 स्क्वायर किलोमीटर में यह जंगल फैला हुआ है।   सुंदरवन के डेल्टा में भारत की सबसे पवित्र नदियों गंगा, ब्रह्मपुत्र, पद्मा और मेघना जैसी नदियों का समुद्र में संगम होता है। भारत और बांग्लादेश दोनों देशों में सुंदरवन का जंगल है और यहां की जमीन दलदली है। 

गिर का जंगल भारत का दूसरा सबसे बड़ा जंगल है। गुजरात में स्थित गिर का जंगल एशियन शेरों के लिए प्रसिद्ध है। यह खतरनाक जंगल सोमनाथ से 43 किलोमीटर उत्तर पूर्व की तरफ और जूनागढ़ से 60 किलोमीटर दक्षिण पूर्व की तरफ है। 1,412 स्क्वायर किलोमीटर फैले गिर के जंगल में से 258 किलोमीटर स्क्वायर का भाग पूरी तरीके से संरक्षित है और 1,153 किलोमीटर स्क्वायर का भाग एक वन्य जीव अभ्यारण्य है। गिर का जंगल दुनिया में पहला ऐसा जंगल है, जहां पर एशियन शेर पाए जाते हैं।

 भारत के 5 जंगल मे जाने से हो सकती है मौत

दक्षिण में स्थित चेरापूंजी के कारण यह जंगल साल के हर दिन बारिश से भीगा रहता है। माना जाता है कि यह भारत का तीसरा सबसे बड़ा जंगल है। भारत के मेघालय में पड़ने वाला खासी के पहाड़ों के बीच स्थित वर्षा वन है।  खासी के पहाड़ों के ऊपर स्थित यह जंगल लगभग 1,978 मीटर की ऊंचाई पर है। मेघालय में स्थित जंगल काफी बड़े क्षेत्र में फैले हैं। भारत में मेघायल पहला ऐसा राज्य है जहां पर वहां की कुल भूमि का 75 प्रतिशत से भी ज्यादा भाग जंगलों से घिरा हुआ है।

भारत के बहुत ही ठन्डे इलाके में स्थित इस जंगले में ऐसे-ऐसे जानवर पाए जाते हैं  भारत का चौथा सबसे बड़ा जंगल नामडाफा माना जाता है। अरुणाचल प्रदेश में स्थित यह जंगल 1,985 स्क्वायर किलोमीटर में फैला।जो भारत में और कहीं नहीं मिलते हैं। इन जंगलों में लाल पांडा, लाल लोमड़ी जैसे जानवर पाए जाते हैं। इस जंगल को बंगाल टाइगर के लिए जाना जाता है। जिम कार्बेट नेशनल पार्क को भारत का सबसे पुराना राष्ट्रीय पार्क कहा जाता है। जिम कॉर्बेट भारत का पांचवा सबसे बड़ा जंगल है। विलुप्त होते टाइगर के संरक्षण के लिए 1936 में इस पार्क को बनाया गया था। उत्तराखंड के नैनीताल में स्थित जिम कॉर्बेट 520 स्क्वायर किलोमीटर के क्षेत्र में है। 
 

Post a Comment

From around the web