दिन में कई बार रंग बदलती है ये Ajab झील, जानिए इसकी Gajab कहानी 

 
दिन में कई बार रंग बदलती है ये अजब झील, जानिए इसकी गजब कहानी

क्या आपको रोमांच का शौक हैं, अगर हां तो आपके लिए ये खबर बेहद खास है। कोरोना की वजह से आप कई दिनों से पहाड़ों वाली जगाहों पर नहीं गए तो अक्टूबर में यहां जा सकते है। यहां सर्दियों के दौरान मौसम काफी बर्फीला होता है। वैसे तो भारत में कई ऐसी जगह है जो प्राकृतिक सुंदरता के लिए फैमस है लेकिन इस जगह पर विदेशी पर्यटक भी आना पंसद करते है। ये एक ऐसी झील है जो दिन में कई बार रंग बदलती हुई नजर आती है।
दिन में कई बार रंग बदलती है ये अजब झील, जानिए इसकी गजब कहानी

आपको बता दें ये चंद्रताल झील के नाम से जानी जाती है। इस झील के पास कैम्पिंग साइट शामिल है। इस झील को द मून लेक के नाम से भी जाना जाता है। ये झील दुनिया की सबसे सुंदर झीलों में शुमार है। द मून लेक 14100 फीट उंची है। इस झील में सर्दियों में बर्फबारी शुरू हो जाती है। जिसकी वजह से ये तीन से चार महीने तक के लिए बंद कर दिया जाता है। 

अक्सर पर्यटक यहां मौसम का मजा लेने आते है। ज्यादातर अक्टूबर के महीने में यहां सैलानी घूमने आते है। पहला मनाली और दूसरा किन्नौर होते हुए ट्रैकिंग कर मई माह से अक्टूबर की शुरुआत तक पहुंचा जा सकता है।
दिन में कई बार रंग बदलती है ये अजब झील, जानिए इसकी गजब कहानी

दरअसल, सैलानियों के आकर्षण के केंद्र होने के साथ-साथ, धार्मिक लिहाज से बेहद महत्व मानी जाती है। अगर आप भी इस खूबसूरत जगह पर घुमने जाएं तो साफ-सफाई का ध्यान रखें, ताकि ये स्थल हमेशा साफ रहे। ये झील पूरी तरह प्रदूषण मुक्त है। ये झील स्थानीय लोगों के लिए धार्मिक महत्व भी रखती है। इस झील से कई पौराणिक किवदंती भी जुडे हैं। 

Post a Comment

From around the web