एल्युमीनियम के बर्तन में गलती से भी न पकाएं ये चीजें

एल्युमीनियम की कढ़ाही में भूलकर भी न पकाएं ये चीज़ें

एल्युमीनियम के बर्तन में गलती

एल्युमीनियम की कढ़ाही में भूलकर भी न पकाएं ये चीज़ें

कुछ बातें जान लें

अगर आप भी एल्युमीनियम के बर्तनों का इस्तेमाल करती हैं तो बेहतर होगा कि आप उसके बारे में कुछ बातें जान लें।

क्यों नहीं पकाना चाहिए खाना

एल्युमीनियम के बर्तन एसिडिक फूड्स के साथ रिएक्ट करते हैं और ये मेटल के कण खाने में मिल जाते हैं। इसलिए एल्युमीनियम की मात्रा शरीर में बढ़ जाती है।

टमाटर की ग्रेवी या सॉस

ऐसा इसलिए क्योंकि टमाटर एसिडिक नेचर का होता है और अगर एल्युमीनियम में इसे ज्यादा देर पकाया जाए तो इसके स्वाद पर असर होता है।

सिरका और उससे जुड़ी डिशेज

सिरका भी एल्युमीनियम से बहुत ज्यादा रिएक्ट करता है। सिरका और उससे जुड़ी डिशेज एल्युमीनियम में रखना सही नहीं माना जाता है

रेड मीट

पश्चिमी आहार में रेड मीट और प्रोसेस्ड मीट सबसे आम अम्लीय खाद्य पदार्थ हैं। यही कारण है कि रेड मीड को भी इस धातु के बर्तन में कभी न पकाएं। ये आपके लिए बहुत हानिकारक साबित हो सकता है।

पैनकेक

पैनकेक बनाने के लिए सबसे अच्छे नॉन स्टिक कुकवेयर होते हैं। यह एल्युमीनियम पैन से ज्यादा सेफ होते हैं, इसलिए आपको पैनकेक इन बर्तनों में बनाना चाहिए

स्टार्ची फूड्स

स्टार्ची फूड्स भी एसिडिक होते हैं और उन्हें एल्युमीनियम के पैन में पकाना आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है। यह मेटल को भी खराब कर सकता है, इसलिए ऐसे फूड्स को इन पैन या अन्य बर्तनों में कुक न करें।

मेटल को भी खराब कर सकता

स्टोरी अच्छी लगी हो तो लाइक और शेयर करें। इस तरह की अन्य स्टोरी के लिए क्लिक करें Lifestylenama.in